क्या चुनाव आयोग भाजपा के इशारे पर काम कर रहा है?

आज की ख़बर स्टेटक्राफ्ट

 

Team dPILLAR:  चुनाव आयोग से पहले ही कर्नाटक विधानसभा की तारिखों की ट्वीट से घोषणा कर भाजपा के आईटी सेल प्रमुख अमित मालविय बुरी तरह फंस गये हैं. मामले को लेकर कांग्रेस और शिवसेना ने बीजेपी पर करारा हमला बोला है. कांग्रेस ने कहा कि बीजेपी ‘सुपर इलेक्शन कमीशन’ बन गई है.

वहीं, चुनाव आयोग ने भी इस मामले को बेहद गंभीर बताया है. मुख्य चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने कहा कि मामले में उचित कार्रवाई की जाएगी. हुआ यह कि  मंगलवार को नई दिल्ली में चुनाव आयोग की प्रेस कॉन्फ्रेंस चल रही थी और मुख्य चुनाव आयुक्त ने चुनाव की तारीखों का ऐलान भी नहीं किया था, तभी मालवीय ने 11 बजकर 8 मिनट पर ट्वीट किया कि कर्नाटक में 12 मई को वोटिंग होगी. इसके बाद तो बवाल मचना लाजमी था. पत्रकारों ने यह मुद्दा प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान चुनाव आयोग के सामने उठाया.

 

अमित मालवीय का ट्वीट
अमित मालवीय का ट्वीट

 

इस मसले को लेकर बीजेपी के नेतृत्व वाली राजग सरकार में सहयोगी शिवसेना ने भी हमला बोला है. अमित मालवीय के ट्वीट को लेकर शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने कहा कि यह मैच फिक्सिंग की तरह है. हम इस मामले की जांच की मांग करते हैं

वहीं इसपर कांग्रेस भी अक्रामक मुद्रा में आ गई.  कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि भाजपा ‘सुपर इलेक्शन कमीशन’ बन गई है. भाजपा ने चुनाव आयोग से पहले ही कर्नाटक के चुनावों की तारीखों का ऐलान कर दिया. उन्होंने ट्वीट किया कि चुनाव आयोग की विश्वसनीयता को ये सीधी चुनौती है. उन्होंने सवाल दागे कि क्या संवैधानिक संस्थाओं का डेटा भी भाजपा चुरा रही है? क्या चुनाव आयोग अमित शाह को नोटिस देगा और बीजेपी के IT सेल पर FIR दर्ज करवाएगा?

 

वहीं मामले को गरमाता देख  अमित मालवीय ने कर्नाटक चुनाव की तारीख वाले ट्वीट को डिलीट कर दिया है. साथ ही मामले में अमित मालवीय ने सफाई दी है कि कर्नाटक चुनाव की तारीखों को लेकर 26 मार्च को पहला ट्वीट किया गया था, जो फर्जी अकाउंट से किया गया था.

कांग्रेस लीडर मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, “अमित मालवीय ने 11 बजे चुनाव की तारीखों वाला ट्वीट किया. इसका मतलब भाजपा मतदान की तारीखों को लेकर चुनाव आयोग को हुक्म दे रही है. मैं अपेक्षा करता हूं कि चुनाव आयोग संविधान और कानून के तहत काम करे और सूचनाएं उजागर न करे. ऐसा पहले कभी नहीं हुआ.”

 

इतना बवाल मचने के बाद  कर्नाटक चुनाव की तारीख बताये आपको कैसे जाने देंगे…पढ़िये  चुनाव आयोग द्वारा जारी तारीख

नामांकन: 17 अप्रैल

नमांकन पत्रों की जांच: 25 अप्रैल

नामांकन वापसी की आखिरी तारीख: 27 अप्रैल

मतदान: 12 मई

मतगणना: 15 मई

 

DPILLAR